ik Bagal mein chand hoga – Lyrics – Gangs of WasseyPur

Self explanatory 🙂 इक बगल में चाँद होगा, इक बगल में रोटियां,  इक बगल में नींद होगी, इक बगल में लोरियां,  हम चाँद पे रोटी की चादर डालकर सो जायेंगे,  और नींद से कह देंगे लोरी कल सुनाने आयेंगे.  इक बगल में खनखनाती सीपियाँ हो जाएँगी,  इक बगल में कुछ रुलाती सिसकियाँ हो जाएँगी,  हम सीपियों में … Continue reading ik Bagal mein chand hoga – Lyrics – Gangs of WasseyPur

Advertisements